अटूट लगन की लाजवाब मिसाल!

कुछ समझ नहीं आया क्षण भर के लिए मानो वक्त वही  ठहर गया हो । खुशी का कोई ठिकाना ना रहा । इतनी खुशी की आंखों से आंसू निकल आए । यह वक्त था 10वी परीक्षा के परिणाम देखने के बाद का जब पता चला कि हमारे सारे के सारे बच्चे पास हो गए । इतना ही नहीं स्कूल का टॉपर लाने वाला विद्यार्थी सुशांत वह है जिसे हमने पढ़ाया ऐसा ही होता है जब आपकी मेहनत ऐसा रंग लाए जैसा आप वर्षों से देखने के लिए लालायित हो। जाने कितने बार घंटो प्रेरणास्पद बातें कही हमने जाने इतनी बार मासूम से बच्चों पर गुस्सा किया हमने इस तरह प्यार, गुस्सा, मेहनत, समर्पण और त्याग इन सभी का मिला जुला फल मिला है सबको और हमारे उन बच्चों को जिसकी वजह से आज सभी का मन प्रफुल्लित था ।success of 10th classes

शुरुआत ही कुछ ऐसी परिस्थितियों से हुई नाममात्र की फीस पर पढ़ाने की वजह से लोगों के दिलों में यह बात बैठ गई थी की इतनी कम फीस पर क्या पढ़ाई होती होगी जे.एम.सी. में सभी कमजोर बच्चे ही यहां पढ़ते हैं यह बात हमेशा मेरे मन में खटकती रही इसलिए नहीं कि लोग हमारी संस्था के बारे में ऐसा बोलते हैं बल्कि इसलिए कि वो हमारे बच्चों की प्रतिभा के प्रति एक सवाल था भले यह सरकारी स्कूल में जाने वाले बच्चे हो या इनका पहनावा उतना अच्छा ना हो या वे पढ़ने में कमजोर हो लेकिन ये वो कर सकते हैं जो उन सभी लोगों के लिए असंभव है जिन्होंने यह सवाल उठाया की यहां कमजोर बच्चे जाते हैं और वह कुछ नहीं कर पाएंगे

वर्षों से उन्हें जवाब देने के लिए हम और हमारे बच्चे प्रयासरत रहे और हमेशा हमने सफलता हासिल की और उसी प्रयास का आज एक  अभूतपूर्व प्रदर्शन था और बस आज ही नहीं सभी विद्यार्थी जीवन में भी उसी तरह मुकाम हासिल करेंगे जहां वो पहुंचना चाहते हैं और मेरी आशा रहेगी कि आज की तरह हमेशा उनका प्रदर्शन अतुलनीय हो मैं उन सभी बच्चों को बधाई देना चाहूंगा जिन्होंने कड़ी मेहनत की बदौलत यह मुकाम हासिल किया जरुरी नहीं कि अच्छा प्रदर्शन ही उन्हें सफलता हासिल करवाएगी लेकिन सफल होने की ये खुशी उन्हें हमेशा सबसे आगे बढ़ने की प्रेरणा देगी।।