समर कैंप का समापन समारोह

दिनांक 14 मई 2018 से जे.एम.सी.के प्रांगण में शुरू हुए समर कैम्प का समापन समारोह दिनांक 19 मई को किया गया । जिसमें सभी वर्ग के लड़के एंव लड़कियों को मिलाकर लगभग 75 बच्चे उपस्थित थे।

JMC Summer Camp 2018 - Closing ceremony
Children singing in chorus

इस समारोह में जयशंकर मेमोरियल सेंटर के छाया रामटेके, अतुल सागर, आशीष कुमार, बॉबी नायक ने भाग लिया तथा गुड्डी रानी ने पूरे कार्यक्रम का संचालन किया। बच्चों के अलावा उनकी कला को प्रोत्साहन करने के लिए न्यू कॉन्सेपट के भी स्टाफ उपस्थित थे।

कार्यक्रम की शुरूआत गुड्डी ने सभी का स्वागत करते हुए किया। उसने बच्चों की कला के बारे में बताया कि पूरे हफ्ते में किस प्रकार से बच्चो के नन्हे-नन्हे हाथो ने बडे-बडे कमाल दिखाकर सबको आकर्शित किया। उसके बाद कुछ बच्चों ने समर कैम्प के अपने अनुभव तथा सीख के बारे में सभी को बताया। उनमें मुख्य रूप से निभा, सुमन, श्रीना, मधु, दीपक आौर कुछ अन्य बच्चों ने भी अपना अनुभव रखा। फिर काजल ने एक गाने पर न्ृत्य प्रस्तुत किया। उसके बाद आज के समाज में बच्चों के गुमराह होने तथा उससे होनेवाले नुकसान और उससे बचने के उपाय पर बच्चों ने कई नाटक एक के बाद एक प्रस्तुत किए।

JMC Summer Camp 2018 - Closing ceremony
Childrens creations on display

जिनमें सबसे पहले मोबाईल फोन का अधिकाधिक प्रयोग पर एक नाटक प्रस्तुत किया गया। जिसे आठंवीं वर्ग के कुछ लड़कियों ने बहुत ही सुन्दर ढंग से प्रस्तुत किया। इसमें बताया गया कि किस प्रकार मोबाइल का इस्तेमाल बच्चों को अच्छे भविश्य से गुमराह करता है। इस तरह हम सभी को मोबाइल का प्रयोग ज्यादा नहीं करना चाहिए। 

उसी तरह नौवीं के बच्चों के द्वारा भी लड़के व लड़कियों के सम्बन्ध पर एक नाटक प्रस्तुत किया गया। जिसमें एक लड़का और एक लड़की प्यार के चक्कर में पड़ कर अपना भविश्य बर्बाद कर लेते है। अंत में उन लोगों को कुछ भी हासिल नहीं होता।

JMC Summer Camp 2018 - Closing ceremony
Childrens creations on display

इन सब नाटको के बाद लड़के कहां पीछे रहने वाले थे। आठवीं, नौवीं व दसवीं के बच्चों ने मिलकर नशे  के शिकार एक युवक की कहानी पर आधारित नाटक पेश किया। जिसमे स्कूल के एक बच्चे को नशे की लत लग जाती है। फिर उसी लत की वजह से पहले वह घर में चोरी करता है बाद में बाहर भी करने लगता है। इस वजह से पुलिस के द्वारा पकडे जाने के बाद उसका भविश्य बर्बाद हो जाता है। इस नाटक के माध्यम से बच्चों ने नशे की लत को भविश्य बर्बाद होने का कारण बताया।

उसके बाद अनेक बच्चों ने अलग-अलग गानों पर नृत्य प्रस्तुत किया। फिर रिमेडियल के शिक्षक अतुल सागर ने बच्चों को अच्छे भविश्य की शुभकामनाये देते हुए उन्हे नाटक में प्रस्तुत किए गए बुरी लत यानि मोबाईल, नशा इन चीजो से दूर रहने की सलाह दी।

JMC Summer Camp 2018 - Closing ceremony
Sharing experience

कार्यक्रम के समापन पर पूनम शर्मा ने बच्चों के कला व प्रदर्शन कि काफी सराहना की। साथ ही उन्होंने कहा कि किस तरह आज बहुत सारी चीजे़ बच्चों के दिमाग को अपनी ओर आकर्शित करते है उन्हें पढ़ाई से गुमराह करते है। उन्होंने बच्चों को अच्छे भविश्य  की शुभकामनाये दी।

अंत में सभी छोटे बच्चों को सामने बुलाया गया और प्रवीण सर ने ’लकडी की काटी, काटी पे घोडा’ बच्चों का गाना गाया तो सभी बच्चे गाने के साथ झूमने लगे। इस प्रकार समारोह में हर्षोल्हास का माहौल बन गया इसी के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ।