जे.एम.सी.में ’शिक्षक दिवस’ मनाया गया

JMC Teachers Day 2016जयशंकर मेमोरियल सेंटर के प्रांगण में 5 सितम्बर 2016 को शाम 3 बजे बच्चों के द्वारा ’शिक्षक दिवस’ का आयोजन किया गया। इस अवसर पर जे.एम.सी.की प्रोग्राम कोर्डिनेटर छाया प्रवीण, रिमेडियल के शिक्षक अतुल सागर और लाईब्रेरी की संचालिका गुड्डी रानी और अर्चना मौजूद थे। इसके साथ साथ बच्चों ने लाईब्ररी में सुबह अंग्रेजी पढ़ाने के लिए आने वाली लक्ष्मी अरोरा और शाम को रिमेडियल में बच्चों को अंग्रेजी पढ़ाने वाली स्नेहा जी भी मौजूद थी।

कार्यक्रम की शुरूआत बच्चों ने अपने अतिथियों का व दोस्तों का स्वागत करते हुए किया तथा गुलदस्ता देकर अतिथियों का अभिनंदन किया। इस कार्यक्रम का मुख्य आधार हमारे समाज में शिक्षकों की अहमियत को दर्शाना था। कार्यक्रम का संचालन दसवीं वर्ग की ज्योति और अनीशा कर रही थी। इस कार्यक्रम में लाईब्रेरी और रिमेडियल के बच्चों ने मिलकर अनेक प्रकार के रंगारंग कार्यक्रम पेश किए जिसके रंग थे नृत्य, गाने, नाटक, स्पीच, चुटकुले आदि। ”बेटियॉं” गाने का मुख्य आकर्षण रहा वही दूसरी ओर बेटियों पर आधरित एक नाटक भी इस कार्यक्रम का दूसरा मुख्य आकर्षण रहा।

JMC Teachers Day 2016बच्चों ने बडी मेहनत और लगन के साथ तैयारी की थी व हर एक की हुनर व कला उभर कर आ रही थी और बच्चे बिना झिझक खडे होकर अपने प्रस्तुति को बडे विश्वास के साथ प्रस्तुत कर रहे थे। इस कार्यक्रम में उनका अपने प्रति आत्मविश्वास नजर आ रहा था।

साथ ही बच्चों ने मिलकर अनेक समाज और देशभक्ति से संबंधित कार्यक्रम प्रस्तुत किए। इस कार्यक्रम के आयोजन के लिए स्नेहा ने बच्चों का बहुत धन्यवाद किया। लक्ष्मी अरोरा, अतुल सर, गुड्डी रानी, अर्चना सभी ने बच्चों को शिक्षक दिवस की बधाई देते हुए धन्यवाद किया। छाया मैम ने बच्चों को शिक्षक दिवस के अवसर पर लगन और मेहनत से पढ़ने का संदेश देते हुए उनको शिक्षकदिवस की बधाई दी और बच्चों को धन्यवाद भी किया।

अंत में कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण बच्चों का एक नृत्य रहा जो कि एक गाने “मैथ्स में डब्बा गुल” पर था, इस गाने के प्रस्तुति में छोटे और बडे बच्चे सारे मिलके धूम मचाते मचाते कार्यक्रम का अंत किया। अंततः बच्चों के द्वारा इस कार्यक्रम का आयोजन उनका अपने शिक्षक के प्रति प्यार और आदर को बयान कर रहा था।

शिक्षक वालंटियर्स ने अपने भावनाएं व्यक्त की 

JMC Teachers Day 2016लक्ष्मी अरोरा ने कहा कि " शिक्षक दिवस की सबको बहुत बहुत शुभकामनायें. सबसे पहले मैं छाया जी का शुक्रिया अदा करना चाहुंगी जिन्होने कार्यक्रम को इतना अच्छे से आयोजन किया। जे.एम.सी.में बच्चो का प्रस्तुति देखकर मुझे बहुत ही अच्छा लगा और मै यह कह सकती हूं कि टेलेंट की कमी नहीं है और मैं टीचर्स अर्चना, अतुल और गु"ड्डी मेम को धन्यवाद बोलूंगी जिन्होने बच्चो को इतने अच्छे से तैयार किया।

स्नेहा ने कहा कि "इतने कम उम्र में भी बच्चो के द्वारा इस तरह का कार्यक्रम प्रस्तुत करना अविश्वसनीय प्रतीत होता है। बच्चों का एक दूसरे के साथ तालमेल बिठाकर कार्यक्रम करना अच्छा रहा। इसके लिये सभी को धन्यवाद करती हूं।"