विष्व पुस्तक मेला 2016

12 जनवरी 2016 की सुबह बच्चे इस कदर बेचैन थे कि उस ना भूल जानेवाली यात्रा पर जाने के लिये जो किताबो का संसार कहा जाता है प्रगति मै दान जहां हर वर्ष के षुरुआत में पुस्तक मेला आयोजित किया जाता है। यह 9 जनवरी 2016 से 17 जनवरी 2016 तक थी।

विष्व पुस्तक मेला 2016हमारी संस्था जयषंकर मेमोरियल सेंटर को एनÛबीÛटीÛ के तरफ से आमंत्रित किया गया था। यहां के बच्चो को ’किताब पर कविता’ प्रस्तुत कर ना था।बच्चे काफी खुष थे और काफी अच्छी तैयारी की थी। वहां पर नेदरलेंड से राजदूत आये थे जिनका सबसे पहले स्वागत किया गया और फिर कार्यक्रम की षुरुआत की गई। जेÛएमÛसीÛसे छाया प्रवीण, सुरेष, बॉबी, और अर्चना गये थे। वहां पर और भी संस्था जैसे बटरफ्लाई नाइट सेंटर, एस्ÛएनÛएसÛफाउंडेषन व सरकारी स्कूल बच्चे आये थे। उन्होने भी वहां पर हर प्रकार के कार्यक्रम प्रस्तुत किये जैसे नुक्कड, नाटक, डान्स और कवितायें प्रस्तुत किये।

जेÛएमÛसीÛ के तरफ से लाइब्ररी के बच्चो ने किताबो पर कविताओं की बरसात बरसायी। कुल मिलाकर 10 बच्चे थे जिसमें से कुछ बच्चो ने अमिता मेरी पहली पुस्तक आयी तथा श्री ना किताबे नामक कविता खुद बनायी व प्रस्तुत कि। बाकि बच्चो ने अंजली मेरी किताब, सपना तिवारी मेरी प्यारी किताब, सपना जिंदगी एक किताब, अनु मेरी किताब मी ु पुस्तके, लवली ने किताब तथा मधु ने पुस्तक नामक कविता को प्रस्तुत की।